व्यर्थ की चिंता छोड़ें, खुश रहें: Do not Worry Be Happy-Inspiring story In Hindi

Do not Worry Be Happy-Inspiring story In Hindi

व्यर्थ की चिंता छोड़ें, खुश रहें

Dont-worry-be-happy

चिंता (Worry) एक ऐसी बीमारी है, जो आपके मन की सारी खुशियों को खा जाती है, बहुत ज्यादा चिंता  (Worry) करने वाला इंसान आपको कभी खुश नहीं दिखेगा, चिंता (Worry) में डूबे इंसान को किसी भी बात से खुशी नहीं मिलती, एक ही बात को लेकर लगातार सोचते ही रहेंगे, सोचते ही रहेंगे, ऐसे लोग हमेशा एक मायूसी और दुख की उर्जा से घिरे रहते हैं, चाहे कोई खुशी का मौका हो, कोई उत्सव हो, कोई त्यौहार हो, कोई चीज ऐसे लोगों को खुशी नहीं दे पाती |

ऐसे लोगों को लगता है, कि सारी जिम्मेदारी हमारे ही कंधों पर है, हम ध्यान न रखें, तो सब कुछ बिगड़ जाएगा| पर यह सच नहीं है, कई बार सिर्फ आपकी चिंता करने की वजह से बनते हुए काम भी बिगड़ जाते हैं, परिवार में अगर एक इंसान चिंता करता है, तो उसका प्रभाव पूरे परिवार पर पड़ता है, सारे घर में वही एनर्जी फैलने लगती है, ऐसे घर में कोई खुश नहीं रह पाता |

ऐसे लोगों की धीरे-धीरे ऐसी आदत बन जाती है, कि वह हर छोटी-छोटी बातों से टेंशन में आ जाते हैं, और जो इंसान बहुत ज्यादा चिंता करता है, फिर उसे गुस्सा, चिड़चिड़ापन, बेचैनी, देर रात तक नींद ना आना, सारी बीमारियां लग जाती है |

Dont-worry-be-happy-1

एक कड़वा सच यह है और हो सकता है आप ना भी मानो, जितनी ज्यादा आप चिंता (Worry) करते हो, वास्तविकता में ऐसा कुछ भी नहीं है, जिसकी चिंता की जाए | कई लोग कहते हैं, कि आपको क्या पता हमारी लाइफ के बारे में, लाइफ कैसी भी हो, पर अगर आप समाधान नहीं निकाल पाते परेशानियों का, इसका मतलब आप खुद एक परेशानी है, “If you can’t solve the problem, you are the problem”.

ऐसी कोई चिंता (Worry) नहीं जिसे करने से आपको सुख मिल जाएगा, या आपके घर में और मन में शांति आ जाएगी | चिंता एक जहर है, वो आपका कल तो अच्छा कभी नहीं बनाएगी, पर हो आपकी आज की खुशियां, आज का दिन, जरूर बर्बा द कर देगी |  

वास्तव में चिंता क्या है? ऐसा ना हो जाए, वैसा ना हो जाए, ऐसा क्यों नहीं हो रहा, वैसा क्यों नहीं हो रहा, इसका सीधा सा मतलब यह है की आप उन्हीं बातों की करते हो, जो आप के कंट्रोल में नहीं है, और जो आपके कंट्रोल में ही नहीं है, उनके बारे में सोच सोचकर आप कौन सा स्वर्ग खड़ा कर लेंगे, चिंता से यदि आप दूर रहना चाहते हो, तो यह पांच बातें याद रखना –

सबसे पहले तो, कल क्या होगा? उसके बारे में सोच-सोच के अपना आज खराब करना छोड़ दो, कल क्या होगा वो किसी को भी नहीं पता, पर आज और इस पल में आप क्या कर सकते हैं, वह आपके हाथ में है, उत्सव और खुशी के लिए किसी दिन का इंतजार मत करो, अपने आज को ही उत्सव बना लो, अपने आज में ही खुश रहना सीखो |

दूसरी बात – जो बातें आपकी मेंटल हेल्थ के लिए अच्छी नहीं, उन बातों को भूलना और Let go  करना सीखो, हर बात में बहुत ज्यादा दिमाग मत चलाया करो, चीजो को Let go करना सीखो, बहुत परवाह कर लिया आपने, अब थोड़ा सा लापरवाह होना सीख लो, आपको ऐसा लगेगा मानो मन से सारा बोझ  ही उतर गया |

happy

तीसरी बात – यह इच्छा बिलकुल छोड़ दो की लोग और परिस्थितियां आपके हिसाब से चलें, परिस्थितियां और लोग दुनिया में कभी किसी के हिसाब से नहीं चलते, जब किसी पर आपका कंट्रोल ही नहीं है, तो क्यों इतना मरते हो, फालतू बातें सोच सोचकर आप अशांति खुद ही खरीद लेते, यह सोचना छोड़ दो कि लोग और परिस्थितियां कैसे होने चाहिए, बल्कि यह सोंचो की आपको हर हाल में कैसे मस्त रहना चाहिए |

चोथी बात – हर बात के लिए आप अपने आप को जिम्मेदार बनाना छोड़ दें, यह मत सोचें कि सब आपको करना पड़ता है, सब आपको देखना पड़ता है | एक कड़वा सच जान लो, हमसे पहले भी सब चल रहा था, और हमारे बाद भी चलेगा  |  

यहां हर इंसान अपना रोल प्ले कर रहा है, तो ज्यादा सीरियस होने की जरूरत नहीं, कोई कुछ करे या न करे आप उसके लिए अपने मन को भारी ना करें, समस्या हर किसी की जिंदगी में, हर किसी के परिवार मैं है, आप कोई पहले इंसान नहीं है, सब का यही रोना है |

मस्त रहो स्वस्थ रहो, आपने कोई ठेका नहीं ले रखा, सब कुछ ठीक करने का, आप खुद को खुश और ठीक रख लो, बस यही बहुत है |

पांचवीं बात – आप बातों को मन में ना रखें, कई बार लोग अपनी बातें कह नहीं पाते और अंदर ही अंदर घुटने रहते हैं, अन्दर ही अन्दर पिटे रहते हैं, उसकी वजह से वह कभी खुश नहीं रह पाते, उनके अंदर सारी खुशी ही खो जाती है | आप अपने डर को निकले और बातों को कहना सीखे |

यह सोचना छोड़ दें, उनको बुरा लगेगा, रिश्तों में प्रॉब्लम आएगी, वो क्या सोचेंगे, आगे क्या होगा, यह सब भी आप सोचेंगे तो बाकी क्या सोचेंगे? क्या सिर्फ आपकी ही जिम्मेदारी है क्या रिश्ते निभाने की? अच्छा बनने की?

अगर उनकी वजह से आपका मन अशांत है, दुखी है तो अंदर ही अंदर घुटने से तो बेहतर है, कि आप खुल के बात करना सीखो, याद रखना जब तक आप बात करोगी नहीं, तब तक बात बनेगी नहीं | बातें करने से ही बातें सुलझती हैं, दरो मत, चिंता मत करो, बस जो बातें आपको अन्दर ही अन्दर से खा रही है, उसे कहने की हिम्मत रखो |

रिश्ते संभालने के चक्कर में, आप खुद ही ना गवां देना, आपके डर की वजह से आपकी जिंदगी और जो आपके अपने हैं, उनकी सब की जिंदगी की खुशियाँ खत्म हो गई है, सही को सही कहने से, गलत को गलत कहने से, कोई रूठता है तो रूठने दो, कोई रिश्ता टूटता है तो टूटने दो |

आप अपने अंदर ही अंदर बातों को रख कर अपनी जिंदगी खराब मत करो, जिंदगी जीना बहुत आसान है, पर हम जीना ही भूल गए हैं, किसी भी एंगल से हमें देखकर लगता है कि हम जी रहे हैं, ऐसा लगता है कि बस जिंदगी काट रहे हैं, मर नहीं रहे हैं बस इसीलिए जी रहे है |

जिंदगी तो वैसे भी एक दिन पूरी हो जानी है, फिर क्यों इतना भारी होकर जीना ? जिंदगी को काटो मत इसके एक-एक पल को जीना सीखो, आपकी सबसे बड़ी जिम्मेदारी बस यह है कि आप खुद को खुश रखे, जिंदगी के हर पल को एक उत्सव की तरह जियो, यह जिंदगी बहुत ही खूबसूरत है, इसे यूँही फालतू की चिंताओं में मत गवां देना | इसीलिए, आप हमेशा खुश रहो, अपने परिवार को, अपने बच्चो को खुश रखो और चिंताओं को अपनी जिंदगी से दूर रखो |

32 thoughts on “व्यर्थ की चिंता छोड़ें, खुश रहें: Do not Worry Be Happy-Inspiring story In Hindi

  • November 12, 2020 at 4:19 pm
    Permalink

    If you want to use the photo it would also be good to check with the artist beforehand in case it is subject to copyright. Best wishes. Aaren Reggis Sela

    Reply
  • November 13, 2020 at 7:11 am
    Permalink

    If you want to use the photo it would also be good to check with the artist beforehand in case it is subject to copyright. Best wishes. Aaren Reggis Sela

    Reply
  • November 13, 2020 at 6:14 pm
    Permalink

    Please pay a visit to the web-sites we stick to, such as this one particular, because it represents our picks in the web. Bili Richart Barbie

    Reply
  • November 14, 2020 at 3:59 pm
    Permalink

    Thank you ever so for you article post. Thanks Again. Fantastic. Francisca Ignacio Veneaux

    Reply
  • November 14, 2020 at 9:20 pm
    Permalink

    You are my intake , I own few blogs and infrequently run out from to post . Michelle Odey Burnight

    Reply
  • November 15, 2020 at 5:06 am
    Permalink

    Asking questions are genuinely nice thing if you are not understanding something totally, except this post gives pleasant understanding even. Emelda Gavan Bendick

    Reply
  • November 15, 2020 at 10:19 am
    Permalink

    Enjoyed every bit of your article. Much thanks again. Susanne Grace Dyane

    Reply
  • November 15, 2020 at 7:10 pm
    Permalink

    I have read so many posts concerning the blogger lovers except this piece of writing is genuinely a nice article, keep it up. Cthrine Davis Geer

    Reply
  • November 16, 2020 at 12:02 am
    Permalink

    What a material of un-ambiguity and preserveness of precious know-how about unexpected emotions. Leanor Mikel Fennessy

    Reply
  • November 16, 2020 at 3:28 am
    Permalink

    Thank you for the good writeup. It in fact used to be a entertainment account it. Augustine Hi Berthoud

    Reply
  • November 16, 2020 at 2:07 pm
    Permalink

    I really like and appreciate your article. Really looking forward to read more. Keep writing. Fedora Rog Donaghue

    Reply
  • November 17, 2020 at 8:43 am
    Permalink

    Im thankful for the blog post. Thanks Again. Fantastic. Christen Mannie Goles

    Reply
  • November 19, 2020 at 10:40 pm
    Permalink

    Every after in a while we select blogs that we read. Listed below would be the most up-to-date web sites that we decide on. Maxie Reuven Melodee

    Reply
  • November 21, 2020 at 9:07 pm
    Permalink

    I have read so many articles concerning the blogger lovers however this paragraph is actually a nice paragraph, keep it up. Jillian Lauren Pedaias

    Reply
  • November 23, 2020 at 12:59 am
    Permalink

    Ahaa, its good discussion concerning this article here at this blog, I have read all that, so now me also commenting at this place. Marchelle Freddie Shewchuk

    Reply
  • November 24, 2020 at 5:38 am
    Permalink

    Utterly written articles, Really enjoyed examining. Loretta Burt Cherrita

    Reply
  • November 25, 2020 at 10:02 am
    Permalink

    Hi there, I wish for to subscribe for this blog to take newest updates, therefore where can i do it please help. Arleyne Anson Trevar

    Reply
  • November 26, 2020 at 4:35 am
    Permalink

    Hi, I want to subscribe for this website to obtain latest updates, so where can i do it please help out. Marlane Robb Dahle

    Reply
  • November 27, 2020 at 7:24 pm
    Permalink

    My brother suggested I might like this blog. He was entirely right. Inesita Andreas Yvor

    Reply
  • November 28, 2020 at 8:36 pm
    Permalink

    Superb, what a blog it is! This weblog presents helpful information to us, keep it up. Kass Alexei Mazurek

    Reply
  • November 30, 2020 at 1:16 am
    Permalink

    You have brought up a very excellent details , thanks for the post. Cordie Sigismondo Fraase

    Reply
  • December 1, 2020 at 9:58 am
    Permalink

    Regular accounts can be hold up to one GB of data. Brigid Curr Adore

    Reply
  • December 4, 2020 at 4:21 am
    Permalink

    Hello. This post was really remarkable, particularly since I was investigating for thoughts on this matter last Tuesday. Madelyn Sargent June

    Reply
  • December 5, 2020 at 6:08 am
    Permalink

    Good article! We are linking to this particularly great post on our website. Keep up the good writing. Olivia Lee Iridissa

    Reply
  • December 8, 2020 at 10:24 am
    Permalink

    Valuable info. Lucky me I found your website by chance, and I am shocked why this twist of fate did not took place earlier! I bookmarked it. Mora Adair Portuna

    Reply
  • December 9, 2020 at 7:13 am
    Permalink

    Excellent post! We are linking to this particularly great post on our website. Keep up the great writing. Hetti Aron Magna

    Reply
  • December 9, 2020 at 12:02 pm
    Permalink

    There as noticeably a bundle to learn about this. I assume you made sure nice points in options also. Gerty Dilly Latrice

    Reply
  • December 9, 2020 at 1:37 pm
    Permalink

    He would be one of the military officers who were complicit in or actually involved in lying to the American public during Iraq and Afghanistan. Deeanne Bevan Vincenty

    Reply
  • December 9, 2020 at 4:05 pm
    Permalink

    You made some good points there. I did a search on the issue and found most persons will go along with with your blog. Antonie Lorant Melvin

    Reply
  • December 9, 2020 at 7:06 pm
    Permalink

    Thanks-a-mundo for the blog article. Really thank you! Want more. Candida Garvey Himelman

    Reply
  • December 9, 2020 at 10:32 pm
    Permalink

    Major thankies for the blog article. Much thanks again. Keep writing. Margie Reese Oilla

    Reply
  • December 10, 2020 at 1:45 am
    Permalink

    I really enjoy the blog post. Really looking forward to read more. Cool. Chere Christophorus Pascal

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *