नए बिज़नस स्टार्टअप क्यों असफल हो जाते हैं ?

नए बिज़नस स्टार्टअप क्यों असफल हो जाते हैं ?

नए बिज़नस स्टार्टअप

नए बिज़नस स्टार्टअप के 5 महत्वपूर्ण नियम नए बिज़नस स्टार्टअप के लिए –

एक सर्वे से पता चला है कि हर 10 नए बिज़नस स्टार्टअप मै से 9 बिज़नस स्टार्टअप फेल हो जाते हैं, मतलब Falling Percentage 90% होता है, तो सोंचिये कि आज आप कोई Business शुरू करते हो तो आपको क्या कभी लगेगा कि इस बिज़नेस से मेरा फेल होने का चांस 90% है, अगर सच में लगता है, तो आप इसे शुरू ही क्यों करते हैं, लेकिन रियलिटी यह है कि हर 10 स्टार्टअप बिज़नेस में 9 स्टार्टअप फेल हो ही जाते हैं, इस वास्तविकता के पीछे Logical Reason भी है, तो वही Reasons आज मैं आपके साथ शेयर करूँगा और उसके साथ-साथ मैं आपको ये भी बताऊंगा कि पांच Simple Reasons को फॉलो करके कैसे आप अपने बिज़नेस को उन 90% असफल बिज़नेस के ग्रुप से बाहर निकालकर 10% सफल स्टार्टअप बिज़नेस के ग्रुप में ला सकते हैं|

नए बिज़नस स्टार्टअप क्यों असफल हो जाते हैं ?

नियम 1 – “अरे वाह ! इस बिज़नेस में तो बहुत फायदा है –

मैं तो यही बिज़नेस करूँगा” यह एक मुख्या कारण है, 90% स्माल बिज़नेस फेल होने का, बिज़नेस और लव दोनों चीजें एक जैसी होती है, इन दोनों में ही अगर शुरुवात से पहले ही प्रॉफिट या लॉस कितना ज्यादा है, सिर्फ यह डिसाइड करने लगे तो वह बिज़नेस या रिलेशनशिप ज्यादा दिन तक नहीं टिक पाएगा |

जैसे की दो लोग है, दोनों ही कंप्यूटर रिपेयरिंग का बिज़नेस शुरु किया है, लेकिन दोनों में से पहले वाला काम को लेकर बिल्कुल भी Passionate नहीं है, कॉलेज खत्म करके छह महीने का कोर्स किया था, अब नौकरी नहीं मिल रही है, इसलिए इस बिज़नेस को शुरू किया है, लेकिन दूसरे वाला इससे अलग है, बचपन से ही उसको कंप्यूटर बहुत अच्छा लगता था और जब भी वो एक कंप्यूटर को रिपेयर करके फिर से उसको पहले जैसा कर देता है |

तब इस काम को करके उसको अंदर से अजीब सी खुशी महसूस होती है, जो खुशी बिना किसी स्वार्थ की और यह खुशी उसको और भी ज्यादा काम करने के लिये मोटिवेट करती हैं, मतलब पहले वाला लड़का काम कर रहा है, मजबूरी में, या सिर्फ पैसों के लालच में, और दूसरे वाला लड़का काम करता है, क्योंकि वो उस काम को पसंद करता हैं, और पैसे कमाने के लिए भी. तो ध्यान दें बिज़नेस मैं भी हर वक़्त प्रॉफिट और लॉस चलता रहता है |

बिज़नेस में काम से अगर प्यार न हो तो दो से तीन प्रॉब्लम्स आते ही बिज़नेस वही पे खत्म हो जाता है | इसलिए कोई भी बिज़नेस शुरू करने से पहले उसमे प्रोफिटस कितना हैं, उससे भी कहीं ज्यादा जरूरी है यह देखना कि आपको उस काम से कितना प्यार है |

नए बिज़नस स्टार्टअप क्यों असफल हो जाते हैं ?

नियम 2 – “Value Delivered = Money Earned” –

शुरू में ही जो 90% बिज़नेस फैल हो जाते हैं, उनमें 45% बिज़नेस फेल होने का मुख्य कारण हैं, वो लोग जो, ऐसा प्रोडक्ट्स को लेकर बिज़नेस शुरू करने बैठ जाते हैं, जिन प्रोडक्ट्स की मार्केट में कोई डिमांड नहीं है, मतलब उनके प्रॉडक्ट्स कस्टमर्स के लिए कोई स्पेशल वैल्यू डिलीवर नहीं कर पाते, एक सेंटेंस कहा जाये तो – वो सारे यूज़लेस है |

इसलिए कोई भी बिज़नेस शुरू करने से पहले, एक प्रश्न खुद से खुद को करना जरूरी है, वो है ! क्यों लोग मुझसे मेरे प्रॉडक्ट खरीदेंगे? अगर इस सवाल का सही तरह का लॉजिकल जवाब आपके पास है, तभी उस विषय में आगे बढ़ना चाहिए | अब कैसे समझेंगे कि इस सवाल का जवाब आपके पास सही है या नहीं | उसके लिए खुद को अपने कस्टमर्स की जगह रखना होगा और कस्टमर्स के पॉइंट ऑफ व्यू से इस बारे में एनालिसिस करना होगा,  

For Example : जैसे कि आपने Search Engine बनाया जो बिल्कुल Google की तरह सेम स्पीड सेम क्वालिटी का रिजल्ट जनरेट करता है, मतलब सर्चिंग स्पीड और क्वालिटी की तरफ से देखा जाए तो आपका Search Engine और Google दोनों ही सेम है | अब आपने खुद से यह सवाल किया, की क्यों लोग मेरा Search Engine उपयोग करेंगे ? जवाब आया स्पीड तो गूगल की तरह सेम ही है, लेकिन फर्क क्या है, हाँ, Google विदेशी कम्पनी है, लेकिन मेरा सर्च इंजन Indian हैं, इसलिए लोग यूज़ करेंगे|

अब कस्टमर के पॉइंट ऑफ व्यू से सोचा जाए, तो जो लोग सर्च इंजन यूज़ करेंगे उसमें 90% से ज्यादा लोग इसको जानना भी जरूरी नहीं समझेंगे कि यह देसी है या विदेशी, बाकी जो 10% लोग है, जिन्हें फिर भी शायद मालूम होगा, वो लोग भी शायद गूगल की मार्केटिंग से इम्प्रेस होकर और बाकी सभी को वही यूज़ करता हुआ देखकर, आपका सर्च इंजन छोड़कर Google का ही सर्च इंजन यूज़ कर रहे होंगे, क्योंकि आपका नया सर्च इंजन उन लोगों की पर्सनल लाइफ में कोई भी एक्स्ट्रा या नया वैल्यू डिलीवर नहीं कर पा रहा है |

क्यों Google विश्व की सबसे अमीर कंपनी में से एक है, क्योंकि Google हर इंसान को लगभग फ्री में जो वैल्यू डिलीवर कर रहा है उसका अमाउंट बहुत ज्यादा है, आपको जिस समय जो जानना ज़रूरी है, वो आप सिंपल Google Search के जरिये उस समय आप उस जगह पर बैठे हुए जान पा रहे हो, जो हो सकता है, आज से कुछ सालो पहले सोचा भी नहीं जा सकता था और उसके साथ साथ Google जीतने लोगों को इसका वैल्यू डिलीवर कर रहा है, उसका नंबर भी काफी ज्यादा है, जिसकी वजह से Google वर्ल्ड की Best, Famous, और Richest Company है |

वर्तमान में हर सेकंड्स मे Google में चालीस हज़ार Search Query प्रोसेसर होती है, जो सब Search Query में Advertisements Show करके Google हर सेकंड में 658$ के करीब कमाई करता है, Google के अलावा भी ऐसे बहुत सारे हजारों उदाहरण हे, जिसे आप ध्यान दें कर देख सकते हैं, साथ ही सक्सेसफुल बिज़नेस में जो चीज़ कॉमन है, वह यह है, कि वे अपने कस्टमर्स को ऐसे कुछ वैल्यू प्रोवाइड करते हैं जिसका वैल्यू बहुत ज्यादा है, मतलब ये बोलने की आवश्यकता नहीं है, कि बिज़नेस के मामले में यह बोलने की आवश्यकता नहीं हे | “Value Delivered = Money Earned”.

Read More ….

Low investment business ideas – कम पूंजी से शुरू करें अपना खुद का बिज़नेस

व्यापार मैं यह आठ गलतियां कभी न करें

किराना शॉप सदाबहार बिज़नेस-कैसे शुरू करैं

 

नियम 3 – Changing is Must –

इंडिया में सबसे फेमस और पॉपुलर ई कॉमर्स साइट Amazon की जौर्नी शुरु हुई थी, सिर्फ बुक्स सेल करने से और अब सिर्फ बुक ही नहीं टूथपेस्ट से लेजर मोबाइल तक सबकुछ मोबाइल पर ऑनलाइन सेल होता हे| हम सबका फेवरेट फेसबुक शुरु हुआ था 2003 में, जो एक हॉट और नॉट टीम की तरह थी, जहाँ पर दो इंसानों के फोटो दिखाए जाते थे, और विजिटर्स को उसे देखकर के कम्पेयर करके कहना होता था, उनमें से कौन सा पिक्चर ज्यादा हॉट है और आज फेसबुक के साथ और भी लाखों ऐक्टिविटी जुड़ चुकी हैं |

ऐसी सारे सक्सेसफुल बिज़नेस सफल होने के पीछे बहुत ही खास मुख्य कारण है, समय के साथ-साथ जरूरत के हिसाब से बिजनस को बदल देना | दूसरी तरफ समय के साथ-साथ कदम मिलाकर बिज़नेस स्टाइल को नहीं बदला जाएगा तो उसका क्या अंजाम हो सकता है, मुझे लगता है कि आज की डेट में उसका बेस्ट Example है Nokia, Nokia की कहानी हम सभी जानते हैं |

सलिए वो मैं यहाँ पर नहीं बता रहा| जो हम सब को यहाँ से सीखना चाहिए वो है, समय के साथ बिज़नेस में चेंज लाना सही में कितना जरूरी है, क्योंकि समय के साथ साथ कदम मिलाकर के आवश्यक परिवर्तन ना लाने से बिल्कुल टॉप से बिल्कुल बॉटम पर गिरने में भी कुछ ज्यादा समय नहीं लगेगा|

Management

नियम 4 – Management is Brain Of Our Business –

ब्रेन हमारे शरीर का वो हिस्सा हे, जिसके ऊपर पूरी तरह से निर्भर हो कर हमारा पूरा सिस्टम चल रहा है, ब्रेन में अगर कोई प्रॉब्लम हो तो एक इंसान की जो हालत होती है, वैसे ही, मैनेजमेंट में कोई भी प्रॉब्लम हो तो बिज़नेस की भी वहीं से हालत हो जाती है, मतलब मैनेजमेंट बहुत ही सेंसिटिव पार्ट है|

इसके ऊपर बिज़नेस बहुत ज्यादा डिपेंड करता है मिनिमम रिसोर्सेज यूज़ करके भी कैसे मैक्सिमम सक्सेस मिल सकती है, ये पूरा इस बात पर निर्भर करता है मैनेजमेंट की एबिलिटी पर और एक बिज़नस  में यही हमेशा अल्टीमेट गोल रहता है |

Marketing for Business

नियम 5 – Marketing is Oxygen of Business to Stay Alive –

अमेरिकन Marketing Association की पब्लिश किये गए एक सर्वे से पता चला है, कि वो सारे कम्पनी जिनका वार्षिक आय 25 मिलियन डॉलर से ऊपर होता है, वो लोगों अनुमानित उनकी आय का 10% हिस्सा खर्च करते हैं सिर्फ और सिर्फ मार्केटिंग पर| अब आपको आपके खुद के बिज़नेस के रेवेन्यू के हिसाब से यह तय करना होगा आपको मार्केटिंग के ऊपर कितना खर्च करना चाहिए, यह सोचना होगा |

क्योंकि पूरी दुनिया में सक्सेसफुल कंपनी एप्पल की सक्सेस के पीछे जो मेन रीज़न एक्सपर्ट मानते हैं, वो हे एप्पल के फाउंडर स्टीव जॉब्स, जो कि मार्केटिंग जीनियस इंजीनियर थे और आज भी एप्पल हर साल मार्केटिंग पर लगभग 12 मिलियन डॉलर के करीब खर्च करते हैं जो इंडियन रुपीज के हिसाब से लगभग 92 करोड़ रुपीज के बराबर है, तो एक बार सोंचिये की मार्केटिंग कितनी इम्पोर्टेन्स हैं|

आपने एक प्रॉडक्ट बनाया, लेकिन जिन लोगों की जरूरत है उन लोगो को उसके बारे में पता ही न चले, कि ऐसा कोई प्रॉडक्ट मार्केट में उपलब्ध है, फिर कैसे जान पाएंगे और ख़रीदेंगे क्यों? तो उसके लिए बहुत जरुरी है, सही तरीके से मार्केटिंग करना| सही तरह से करने का मतलब, मार्केटिंग की टारगेट ऑडियंस सही होनी चाहिए, सिर्फ मार्केटिंग करने से नहीं होगा इसको सही तरीके से करना भी बहुत जरूरी है |

यह थे कुछ महत्वपूर्ण कारण और सुझाव किसी नए बिज़नेस के Success और Failure के जिन पर ध्यान देकर आप अपने बिज़नेस को नई ऊंचाईयों पर पहुंचा सकते है|

उम्मीद है आपको हमारा यह  Blog पसंद आया होगा | इससे नए बिज़नस स्टार्टअप की शुरुवात करने का मार्गदर्शन मिलेगा  Comment एवं Share करके हमे मार्गदर्शन एवं प्रेरणा दें, धन्यवाद |

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *